तालिबान नेता अब्दुल गनी बरादर होंगे अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति

Desk: रविवार 15 अगस्त 2021 को तालिबान ने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है। अफगान सेना तालिबान के साथ समझौते पर राजी हो गई है। राष्ट्रपति अशरफ गनी अफगानिस्तान से ताजिकिस्तान भाग गए हैं। उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह भी देश छोड़कर जा चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर अफगानिस्तान में तालिबान की ताकत तय मानी जा रही है. इससे नए राष्ट्रपति के नाम को लेकर स्थिति साफ होती दिख रही है। अंग्रेजी न्यूज चैनल सीएनएन-न्यूज18 की खबर के मुताबिक तालिबान के मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को अफगानिस्तान का नया राष्ट्रपति घोषित किए जाने की संभावना है।

मुल्ला अब्दुल गनी बरादर उन चार लोगों में से एक हैं जिन्होंने 1994 में अफगानिस्तान में तालिबान आंदोलन शुरू किया था। 2012 के अंत तक मुल्ला बरादर के बारे में बहुत कम चर्चा होती थी। हालाँकि, उनका नाम तालिबान कैदियों की सूची में सबसे ऊपर था, जिन्हें अफगान शांति वार्ता को प्रोत्साहित करने के लिए रिहा करना चाहते थे।

हालांकि तालिबान के साथ एक समझौते के बाद 2018 में उन्हें पाकिस्तानी सरकार ने रिहा कर दिया था, लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया गया था कि उन्हें पाकिस्तान में रखा जाएगा या किसी तीसरे देश में भेजा जाएगा। मुल्ला बरादर की अहमियत इस बात से समझी जा सकती है कि गिरफ्तारी के समय उन्हें तालिबान नेता मुल्ला मोहम्मद उमर के सबसे भरोसेमंद कमांडरों में से एक माना जाता था।

Share Now

Leave a Reply

%d bloggers like this: